आयोग की बची इज्जत, बिना विवाद के पूरी हुई परीक्षा

अपना लखनऊ होमपेज स्लाइडर

लखनऊ: कभी पेपरलीक तो कभी परीक्षा में गड़बड़ी, बीते कई साल से विवादों से नाता रखने वाला यूपी लोक सेवा आयोग इस बार राहत की सांस ले रहा है. क्योंकि लंबे वक्त बाद आयोग ने बिना किसी विवाद के सबसे बड़ी परीक्षा संपन्न कराई है. बता दें कि,  प्रदेश के 29 जिलों में 1382 केन्द्रों पर पीसीएस प्री की परीक्षा का आयोजन हुआ. जिसके लिए 6 लाख 35 हजार 844 परीक्षार्थियों ने परिक्षा के लिए आवेदन किया था आयोग और शासन- प्रशासन के लिए राहत की बात ये कि, परीक्षा बिना किसी बवाल के खत्म हुई

2 लाख से ज्यादा छात्र नहीं पहुंचे परीक्षा देने
परीक्षा भले ही शांतिपूर्ण ढंग से समाप्त हुई हो मगर 2 लाख 38 हजार 962 अभ्यर्थियों ने परीक्षा से किनारा कर लिया.  इसकी वजह नेगेटिव मार्किंग मानी जा रहा है.  हालांकि परीक्षार्थियों को पेपर आसान नजर आया.  आयोग के मुताबिक इस बार 62.42 फीसदी अभ्यर्थी उपस्थित रहे, हालांकि आयोग के अधिकारियों का मानना है कि दूसरी परीक्षाओं में सिर्फ 52 से 53 फीसदी परीक्षार्थी ही उपस्थित रहते हैं.

सीतापुर-जौनपुर में भी नहीं आए परीक्षार्थी
सीतापुर के राजकीय इंटर कॉलेज को भी परीक्षा केन्द्र बनाया गया, यहां सुरक्षा के लिए कड़े इंतजाम किए गए. लेकिन यहां करीब 25 फीसदी परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ी. वहीं जौनपुर में परीक्षा के लिए 48 केन्द्र बनाए गए थे.  जिसमें 22 हजार 342 परीक्षार्थियों को परीक्षा देनी थी लेकिन 68 फीसदी परीक्षार्थियों ने परीक्षा में हिस्सा लिया.

एसटीएफ की टीमें हुईं तैनात
पहली बार पीसीएस की परीक्षा के लिए एसटीएफ की टीमें लगाई गईं थी.  इसके अलावा परीक्षा केन्द्रों की सीसीटीवी से निगरानी रखी जा रही थी ताकि परीक्षा में कोई गड़बड़ न हो.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *