उन्नाव में डॉक्टर की लापरवाही से गई जच्चा और बच्चा की जान.

अपना लखनऊ लाइफस्टाइल/हेल्थ होमपेज स्लाइडर

उन्नाव: बेनीगंज निवासी सुनील की पत्नी कंचन को प्रसव पीड़ा होने पर उन्नाव मेडिकल सेंटर से डॉ0 निर्मल खेड़िया के कानपुर रेलबाजार स्थित मोती हॉस्पिटल में 26 अप्रैल को भर्ती कराया गया था. 4 दिनों बाद जन्मे बच्चे की मौत हो गई. 8 दिन बाद मोती हॉस्पिटल से महिला की छुट्टी हुई. 3 दिन बाद फिर तबियत बिगड़ने पर जनपद के कब्बा खेड़ा हॉस्पिटल में 5 दिन भर्ती किया. जहाँ देर रात महिला की मौत हो गयी.

जबरन निकाल दिया था अस्पताल से

परिवारीजनों की माने तो डॉक्टर से पूछने पर भी आश्वाशन देते हुए इलाज के नाम पर 5लाख जमा करवा लिए. साथ ही जबरन पति से हस्ताक्षर करवा हॉस्पिटल से भी निकाल दिया. महिला की मौत के बाद उसके भाई ने सदर कोतवाली को शिकायती पत्र दिया है और डॉ के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करने की बात कही है.

अपना उत्तर प्रदेश के लिए कानपुर से वरिष्ठ संवाददाता फैज़ान हैदर की रिपोर्ट.

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *