मोदी का ‘हथियार’ युवाओं ने बनाया ‘औजार’, सकते में सरकार

होमपेज स्लाइडर

लखनऊ/दिल्ली: मोदी सरकार को घेरने की कोशिशों में जो काम विपक्ष नहीं कर पाया वो काम इस देश के लाखों करोड़ों बेरोजगार युवाओं ने कर दिया. और इस सब के बाद सकते में है सरकार और सोच में है विपक्ष. बेरोजगार युवाओं ने पीएम मोदी के बताए मंत्र को उन पर ही इस्तेमाल करना शुरु कर दिया है ।

ताली-थाली को बनाया हथियार

बेकारी और बेरोजगारी के मुद्दे पर लगातार अपनी आवाज मुखर कर रहे युवाओं ने ऐसा प्लान बनाया कि, अब हर कोई उसकी चर्चा कर रहा है. दरअसल, कोरोना काल में पीएम मोदी ने ही एक बार देश की जनता से ताली और थाली बजाने का आह्वान किया था. उनके आह्वान पर देश की जनता ने ये काम बखूबी किया भी था. लेकिन एक तरफ महामारी और दूसरी तरफ बेरोजगारी के आलम में  हताश और निराश युवाओं को जब कुछ नहीं सूझा तो उन्होंने पीएम के मंत्र को ही विरोध प्रदर्शन का यंत्र बना लिया ।

5 तारीख को 5 बजे 5 मिनट का प्रदर्शन

सोशल मीडिया पर सरकार से रोजगार की अपील करते हुए युवाओं ने बीते 5 तारीख को 5 बजे 5 मिनट के लिए ताली थाली बजाने का ऐलान किया. उसका असर ये हुआ कि, सोशल मीडिया पर ये मुद्दा टॉप ट्रेंड करने लगा. 5 तारीख को देशभर से आईं ताली-थाली की तस्वीरों के जरिए युवाओं ने अपनी ताकत का बखूबी एहसास करा दिया. युवा शक्ति का ये प्रयोग देशभर में चर्चा का विषय रहा है।

9 सितंबर को 9 बजे 9 मिनट

5 सितंबर के प्रयोग के बाद तो युवाओं ने इस प्रयोग का उपयोग करना शुरू कर दिया. 5 तारीख के सफल प्रयोग के बाद बुधवार को रात 9 बजे 9 मिनट तक बत्तियां बुझाकर दीया-बाती और मोमबत्ती से क्रांति की मशाल जलाई गई ।

समर्थन में उतरे सियासी दल

युवा और बेरोजगारों का दमखम देख विपक्षी दलों का दिल भी डोल गया. इसी के चलते सपा-कांग्रेस जैसे सरीखे दलों ने बेरोजगारों की इस मुहिम का सर्मथन किया. सपा मुखिया अखिलेश यादव और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी युवाओं क इस मुहिम में साथ देने के लिए ट्वीट किया ।

2 thoughts on “मोदी का ‘हथियार’ युवाओं ने बनाया ‘औजार’, सकते में सरकार

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *