प्रवासी मजदूरों के लिए दिल खोलते रोज़ेदार

अपना लखनऊ होमपेज स्लाइडर

कानपुर:- देशभर में लागू लॉकडाउन के बीच घरों की तरफ वापस लौट रहे मजदूरों की इस तेज गर्मी में भूखे-प्यासे मदद में जुटे रोजेदारों की एक पहल को काफी सराहा जा रहा है. वो उन्हें खाने से लेकर पैरों में पहनने तक के लिए चप्पलें दे रहे हैं. संकट की इस घड़ी में आगे आई जाजमऊ क्षेत्र से उज़्मा इक़बाल सोलंकी प्रवासी मज़दूरों को भोजन और पानी की बोतलें वितरित कर रही हैं. कोई भी मजदूर यात्रा करने के दौरान भूखा न रहे इसके लिए वह बड़ा कदम उठा रही है. उन्होंने बताया हम रमजान के दौरान भूखे रहते हैं, इसलिए हमारे पास भोजन और पानी के मूल्य के बारे में एक विचार है.

बढ़-चढ़ कर हो रही मदद

प्रवासी मजदूरों की खातिर अपनी तिजोरी खोलने वाले रोजेदारों ने सबका दिल जीत लिया है. वह अपने स्तर पर जो बन पड़ रहा है कर रहे है. एआईएमआईएम से युवा नेत्री रिया सिद्दिक्वि भी अपनी टीम के साथ मज़दूरों को बिस्कुट, पानी व चप्पलें बाटते देखने को मिली. रिया ने बताया कि वह इस बार ईद नहीं मनाएंगी. ईद पर नए कपड़े और सामान खरीदने के लिए वह जो पैसा खर्च करती थी, इस बार जरूरतमंदों की मदद पर खर्च करेंगी. उन्होंने लोगों से भी मदद करने की अपील करते हुए कहा कि हमसे जितना हो रहा है हम कर रहे हैं, आप भी अपने हिसाब से जरूरतमंदों की मदद करें.

अपना उत्तर प्रदेश के लिए कानपुर से वरिष्ठ संवाददाता फैज़ान हैदर की रिपोर्ट

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *