अखिलेश यादव ने लगाया ये बड़ा आरोप, योगी बोले इतिहास पढ़ो

अपना लखनऊ होमपेज स्लाइडर

लखनऊ : योगी सरकार द्वारा इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने पर जमकर सियासत हो रही है.समूचा विपक्ष विकास के बजाए नाम बदलने को मुद्दा बनाकर यूपी सरकार को घेरने में लगा है.सपा मुखिया अखिलेश यादव ने नाम बदलने पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि, ‘नाम बदलने से नहीं काम करने से विकास होता है.ये सरकार बताए कि, नाम बदलने से क्या क्या विकास हो जायेगा’. इतनाही नहीं अखिलेश यादव ने कुंभ को लेकर आरोप लगाया कि, ‘योगी जी झूठ बोल रहे हैं अर्द्ध कुंभ को कुंभ बता रहे हैं, योगी खुद को संत कहते हैं और झूठ बोलते हैं.कुंभ तो हमारी सरकार में लगा था अर्द्ध कुंभ को कुंभ बताकर इतना बड़ा झूंठ बोला जा रहा है.

वहीं कांग्रेस ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने को पॉलिटिकल स्टंट बताया है. कांग्रेस नेताओं की दलील है कि, इसमें नया कुछ भी नहीं है प्रयागराज तो हमेशा से ही है. मुद्दा है उस जगह का उद्धार, विकास और मुलभूत सुविधाएं. कुंभ शुरू होने वाला है अच्छा होता कि सरकार वहां की समस्याओं पर ध्यान देती.

इलाहाबाद के बाद यूपी के मुसलमानों का नाम बदलेगी सरकार?

बता दें कि, बीते एक अरसे से इलाहाबाद का नाम बदलने की मांग जोर पकड़ रही थी. योगी सरकार बनने के बाद संत समाज लगातार इस मांग को उठा रहा था.संतों की इस मांग पर राज्यपाल ने सहमत दी तो मंगलवार को कैबिनेट ने इस पर अपनी मुहर लगा दी.हालांकि, नाम बदलने पर केवल विपक्ष ही सरकार को नहीं घेर रहा है.खुद योगी सरकार में शामिल कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव समाजपार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर का कहना है कि, पहले भी सरकारों ने तमाम शहरों के नाम बदले हैं तो क्या नाम बदलने से इलाहाबाद का विकास हो जायेगा, युवाओं को नौकरी, लोगों को घर, राशनकार्ड आदि मिल पाएंगे.

वहीं इस विरोध और बयानों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारतेंदु हरिश्चंद्र की पंक्तियों को दोहराते हुए कहा कि, ‘निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल’ जो लोग नाम बदलने का विरोध कर रहे हैं उन्हें इतिहास का ज्ञान नहीं है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *