ओवैसी का प्लान ‘आजम खान’…अखिलेश से छीनेंगे ‘मुसलमान’ ?

अपना लखनऊ बिना श्रेणी होमपेज स्लाइडर

लखनऊ: कहा जाता है कि, राजनीति में कोई किसी का ना तो स्थाई दोस्त होता है और ना दुश्मन, तमाम संभावनाओं के शुभ मुहूर्त में कब कौन किसके साथ जुड़ जाए और कौन किसका साथ छोड़ जाए कहा नहीं जा सकता. इधर उत्तर प्रदेश में पतंग (ओवैसी की पार्टी का चिन्ह) उड़ाने की कोशिशो में जुटे हैदराबाद वाले ओवैसी की नजर अब आजम खान की ओर इनायत हो सकती हैं.

आजम खान से हो सकती है मुलाकात

यूपी में लगातार एक्टिव हो रहे ओवैसी बखूबी जानते हैं कि, मुस्लिम वोटों की लडाई में उन्हें अखिलेश यादव से लड़ना होगा इसी कड़ी में कहा जा रहा है कि, ओवैसी ने आजम खान के जरिए मुस्लिम मुद्दे को रंग देने का प्लान बनाया है. बीते एक साल से जेल में बंद आजम खान को लेकर सियासी गलियों में चर्चा रहती है कि, अखिलेश यादव ने आजम खान को लेकर वो लड़ाई नहीं लड़ी जो शिद्दत से लड़ी जानी चाहिए थी. ओवैसी कैंप से संकेत मिल रहे हैं कि, वो जेल में बंद आजम खान से मिलने की तैयारी में हैं. ओवैसी की तरफ से आजम खान को पैगाम भी भिजवाया गया है. आजम खान की हामी के बाद कभी भी मुलाकात हो सकती है ।

अखिलेश यादव की खामोशी को बनाएंगे मुद्दा

दरअसल, बीते कुछ दिनों से जिस तरह से आजम खान और उनके परिवार पर मुकदमों की झड़ी लगी है. और समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव की चुप्पी ने मुस्लिम कम्युनिटी के बीच ये बात घर कर दी है कि, जो मुस्लिम सपा को वोट देते हैं वो पार्टी उनकी कौम के एक कद्दावर नेता के खिलाफ राजनीतिक बदले की भावना से की जा रही कार्रवाई  पर सपा मुखिया अखिलेश यादव  खामोश क्यों हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *