अपने 7 साथियों सहित गिरफ्तार विधायक अमनमणि, सीएम योगी के नाम पर किया था कारनामा

अपना लखनऊ होमपेज स्लाइडर

लखनऊ/बिजनौर: उत्तर प्रदेश के निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी एक बार फिर चर्चाओं में हैं, बिजनौर पुलिस ने अमनमणि त्रिपाठी और उनके 7 साथियों सहित गिरफ्तार किया है. उनके खिलाफ महामारी एक्ट सहित IPC की कई धाराओं के तहत कार्रवाई की गई है.

क्या है मामला

दरअसल, रविवार को तीन कार में करीब 11 लोग सवार होकर चमोली पहुंचे थे,  उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ के स्वर्गीय पिता आनंद सिंह बिष्ट के पितृ कार्यों को पूरा करने के लिए बदरीनाथ और केदारनाथ जाने इजाजत मांगी थी. उत्तराखंड के अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने 11 लोगों को अनुमति जारी कर दी थी. देहरादून से लेकर चमोली तक अमनमणि त्रिपाठी को पूरा प्रोटोकॉल भी दिया गया. लेकिन लॉकडाउन का हवाला देकर चमोली प्रशासन ने बदरीनाथ के कपाट नहीं खुलने का हवाला देकर आगे जाने से रोक दिया.

हरिद्वार में किया था हंगामा

बता दें कि, रोड़ीवाला बैरियर पर रोकने पर विधायक अमनमणि ने अपने साथियों के साथ जमकर हंगामा किया. आरोप है कि, विधायक सप्तऋषि पर पुलिस द्वारा रोकने पर कार नहीं रोकी. हंगामे के बाद पुलिस ने विधायक की गाड़ी समेत तीन और गाड़ियों का तालान कर दोनों के लाइसेंस जब्त कर लिए.

यूपी सरकार को जारी करना पड़ा बयान

इस मामले में यूपी सरकार को भी बयान जारी करना पड़ा, सरकार की ओर से उत्तराखंड जाने के लिए योगी आदित्यनाथ द्वारा अधिकृत किए जाने के संबंध में आए समाचार को असत्य, भ्रामक एवं आधारहीन बताया, सरकार की ओर से कहा गया कि, विधायक ने भ्रामक रूप से तथ्यों को मुख्यमंत्री से जोड़कर आपत्तिजनक कृत्य किया गया है उत्तरांखंड जाने के लिए न मुख्यमंत्री न ही सरकार ने अधिकृत किया त्रिपाठी अपने कृत्य के लिए खुद जिम्मेदार हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *