दूधिया बनकर निकला था लॉकडाउन देखने, पुलिस ने धरा

अपना एनसीआर लाइफस्टाइल/हेल्थ होमपेज स्लाइडर

गाजियाबाद  : ‘लॉकडाउन’ देखने की तमन्ना ने एक शख्स को जेल की हवा खिला दी. लॉकडाउन के दौरान पहचान छिपाने के लिए युवक ने दूधिया का रूप बना रखा था. मोटर साइकिल के पीछे बाकायदा उसी स्टाइल में दूध के ड्रम भी टांग लिये, जैसे असलियत में दूधियों पर होते हैं. लॉकडाउन के चलते चप्पे-चप्पे पर मौजूद पुलिस की नजरों से मगर युवक नहीं बच सका. आरोपी को गिरफ्तार करके पुलिस ने जेल भेज दिया. घटना राष्ट्रीय राजधानी  से सटे यूपी के गाजियाबाद शहर की है.

जांच के दौरान खुली पोल

गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के मुताबिक, “गिरफ्तार शख्स का नाम विक्रम है. आरोपी गाजियाबाद जिले के ही बम्हेटा गांव का रहने वाला है. आरोपी को लॉकडाउन के दौरान शांति भंग के आरोप में जेल भेजा गया है.” घटना के बारे में डिटेल में बताते हुए गाजियाबाद जिला पुलिस प्रवक्ता सोनवीर सिंह सोलंकी ने कहा, “आरोपी के खिलाफ विजय नगर थाने में मामला दर्ज किया गया है. घटना मंगलवार 24 मार्च की है. घटना क्रॉसिंग रिपब्लिक के पास हुई. घटना के समय विजय नगर थाने के एसएसआई इमाम जैदी लॉकडाउन के दौरान बैरिकेटिंग करके चैकिंग कर रहे थे.”

खाली था दूध का डिब्बा

पुलिस चेकिंग के दौरान काले रंग की नई बाइक पर दूध बेचने वाला सा दिखाई देने वाला एक युवक पुलिस टीम के पास आकर रुका. युवक की मोटर साइकिल के पीछे दूध भरने वाला एक बड़ा डिब्बा टंगा  हुआ था. जिससे देखने में वह वास्तव में दूध आपूर्तिकर्ता ही लग रहा था. संदिग्ध ने बैरिकेट लगा देखकर पुलिस वालों से बैरिकेट हटाने को कहा. घटनास्थल पर मौजूद विजय नगर थाने के सीनियर सब इंस्पेक्टर इमाम जैदी को संदिग्ध के बात करने पर शक हुआ. उन्होंने कहा कि दूध बेचने वाला है तो दूध का बर्तन चैक कराओ. पुलिस टीम ने दूध का डिब्बा खोलकर देखा तो उनकी आंखें फटी रह गयीं. दूध वाले डिब्बे में कुछ नहीं था. पूरी तरह से खाली डिब्बा भी बहुत पुराना और जंग लगा हुआ था.

सच्चाई सामने आई तो हंसने लगे पुलिस वाले

सच्चाई पता चलते ही मौजूद पुलिस वालों की हंसी छूटी गयी.  तुरंत मामला एसएसपी तक पहुंचाया गया. उसके बाद आरोपी के खिलाफ शांति भंग का केस दर्ज करके उसे जेल भेज दिया गया. युवक को पकड़ने वाली टीम के एक सदस्य ने बताया कि, “आरोपी ने जिंदगी में पहले कभी लॉकडाउन नहीं देखा था. लिहाजा उसने घर में मौजूद कबाड़ में पड़ा दूध ढोने वाला बड़ा सा बर्तन जुगाड़ करके किसी तरह से मोटर साइकिल पर लटका लिया. ताकि देखने से लगे कि वे दूध सप्लाई करने जा रहा है. इस बहाने वो गाजियाबाद की सड़कों पर घूम-घूमकर लॉकडाउन देखना चाहता था. लॉकडाउन में बरती जा रही पुलिस की सख्ती के चलते मगर युवक पकड़ा गया.”

 

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *