लॉकडाउन में मां ने लेने भेजा था आलू, बेटा ले आया ‘बाबू’

अपना एनसीआर होमपेज स्लाइडर

गाजियाबाद : कोरोनावायरस की चेन तोड़ने के लिए देश्भर में लागू लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में एक परिवार के साथ कुछ ऐसा वाकया पेश आया कि, वह इसे कभी नहीं भूल पाएगा. दरअसल, एक युवक सब्जी व राशन का सामान लेने के लिए बुधवार को घर से बाहर निकला. लेकिन वह जब घर आया तो उसके साथ एक दुल्हन थी. जिसे युवक अपनी पत्नी बता रहा था.

मां ने अपनाने से किया इंकार

यह देख उसकी मां के होश उड़ गए. मां ने उसे घर में घुसने से मना कर दिया. मामला थाने तक पहुंचा. पुलिस के सामने भी मां ने साफ कह दिया कि, उसे यह शादी स्वीकार नहीं है. वह घर में किसी को घुसने नहीं देगी. आखिरकार बेटा अपनी पत्नी के साथ किराए पर रह रहा है.

लॉकडाउन से पहले शादी का दावा

यह मामला साहिबाबाद क्षेत्र का . अपनी दुल्हन साथ लेकर घर पहुंचने वाले गुड्डू का कहना है कि, उसने दो माह पहले शादी हरिद्वार में एक आर्य समाज मंदिर में की थी. लॉकडाउन के कारण सर्टिफिकेट अभी तक नहीं मिला है. कारण शादी के वक्त गवाह कम थे. हम दोबारा हरिद्वार जाने वाले थे, लेकिन लॉकडाउन लग गया.

किराए के मकान में थी पत्नी

गुड्डू अपनी पत्नी सविता को क्षेत्र में एक किराए के मकान में रखे हुए था. जहां वह आता-जाता रहता था. उसने कहा था कि लॉकडाउन के बाद घर ले चलूंगा. लेकिन 21 दिनों के लॉकडाउन के बाद लॉकडाउन फेज दो 18 दिनों का घोषित कर दिया. इसके बाद सविता मकान खाली करने के लिए कह रही थी. इसलिए वह बुधवार को पत्नी को लेकर घर पहुंच गया.

मां ने किया केस

इसके बाद मां ने थाने में शिकायत की. उसने कहा कि, शादी हुई भी है या नहीं, इस बात का भी कोई सबूत नहीं है. हालांकि पुलिस ने समझा बुझाकर मामले को शांत कराया है. गुड्डू अपनी दुल्हन को लेकर किराए के मकान में चला गया है.

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *