UP Elections 2022: यूपी में सियासी हलचल तेज, चुनावों के लिए 46 दलों ने मिलाया हाथ

अपना चुनाव अपना लखनऊ होमपेज स्लाइडर

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों (UP Assembly Elections 2022) की तैयारियां अभी से शुरू हो गई हैं. बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Mayawati) ब्राह्मणों पर दांव आजमाने की कोशिश कर रही हैं, तो अखिलेश यादव (Akhliesh yadav) सत्तासीन बीजेपी योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साध रहे हैं. सियासी हलचल के बीच प्रदेश के 46 राजनीतिक दलों ने मिलकर राजनैतिक विकल्प महासंघ का गठन किया है.

पार्टी का गठन करने के बाद नेताओं ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि वह आगामी चुनावों के लिए तैयार हैं और प्रदेश की सभी 403 सीटों पर प्रत्याशियों की सूची का ऐलान जल्द ही किया जाएगा.

इन मुद्दों पर चुनाव लड़ेगी पार्टी
वक्ताओं ने कहा कि महासंघ आगामी चुनाव में अपने प्रमुख मुद्दे जिनमें उत्तर प्रदेश राज्य का विकेंद्रीकरण, पृथक पूर्वांचल राज्य, बुंदेलखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, अवध प्रदेश के निर्माण पर फोकस करेगा साथ ही सरकारी कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली, मनरेगा की तर्ज पर रोजगार गारंटी योजना के तहत प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को रोजगार उपलब्ध कराने, बेरोजगारों को पेंशन, शिक्षा का तकनीकीकरण, किसानों की समस्याओं का त्वरित निपटारे हेतु कृषि आयोग का गठन, किसानों को मुफ्त बिजली, महिला एवं दलित शोषित समाज के उत्थान जैसे मुद्दों को उठाकर चुनाव लड़ेगी और आम जनता के दिलों में उतरने की कोशिश करेगी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *