अलीगढ़ : शिक्षक घोटाले का बड़ा खुलासा, नपे 87 फर्जी शिक्षक

अपना अलीगढ़ होमपेज स्लाइडर

अलीगढ़ : उत्तर प्रदेश में जहां एक ओर राज्य स्तर पर शिक्षकों की भर्तियों में धांधलेबाजी की वजह से लाखों काबिल अभ्यर्थी धरना प्रदर्शन करने पर मजबूर हैं वहीं अलीगढ़ में शिक्षक भर्ती का बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है, अलीगढ़ में करीब 87 ऐसे शिक्षक पाए गए है जिन्होंने फर्जी कागजात के जरीए सरकारी नौकरी हासिल की

SIT ने की शिक्षकों की जांच

दरअसल एसआईटी ने जांच में पाया की जिले में 89 फ़र्ज़ी शिक्षक तैनात है, लिहाजा जांच की रिपोर्ट शिक्षकों के नाम की सूची जिला शासन को सौंपी, रिपोर्ट पर कार्रवाई करते हुए फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी पाए 87 शिक्षकों की बर्खास्त कर उनकी सेवा समाप्त कर दी गई है. इनमें से 2 शिक्षकों ने एसआईटी में दोबारा अपील की है. वहीं बाकी के शिक्षक फर्जी अंकपत्रों पर नौकरी करते पाए गए. डीएम चंद्रभूषण सिंह के अनुसार इन 87 फर्जी शिक्षकों की सेवा समाप्ति के साथ ही इनसे रिकवरी का आदेश भी जारी किया गया है.

रिकवरी के आदेश भी जारी किये

बता दें शासन के आदेश पर अलीगढ़ डीएम ने एडीएम और एसपी रूरल की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई थी, जिन्होंने दस्तावेजों की जांच की. जांच में जिनके भी दस्तावेज फर्जी पाए गए हैं, उनकी नियुक्ति को शून्य मान लिया गया है. इनको अब तक जो भी वेतन भुगतान किया गया है, उसकी रिकवरी की जाएगी. डीएम ने कहा कि जांच अभी भी जारी है.

चार चरणों में हुई कार्रवाई
अधिकारियों के अनुसार तीन से चार चरणों में कार्रवाई की गई है. फर्जी शिक्षकों द्वारा वेतन के रूप में ली गई राशि की रिकवरी व एफआइआर कराने के निर्देश संबंधित खंड शिक्षा अधिकारियों को दिए गए हैं.

 

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *