सूटकेश में मिली लाश की हुई पहचान

अपना बुलंदशहर होमपेज स्लाइडर

बुलंदशहर : गाजियाबाद के साहिबाबाद की दशमेस कालौनी में सूटकेश में मिले महिला के शव की पहचान हो गई है. दहेज हत्या के आरोप में नगर कोतवाली पुलिस ने पति समेत तीन लोगों को अरेस्ट कर जेल भेजा है. मृतका की शादी एक जून को अलीगढ के रहने वाले  आमिर के साथ हुई थी. आरोप है कि दहेज के लालच में वरीशा को मारकर अटैची में बंद कर फैंक दिया.

3 लोगों को किया गिरफ्तार

मंगलवार को नगर कोतवाल योगिंद्र कुमार ने बताया कि वरिशा कोतवाली क्षेत्र के मछली बाजार की रहने वाली थी. 25 जुलाई को उसके पति आमिर ने कोतवाली में शिकायती पत्र देकर बताया कि उसकी पत्नी 30 हजार रूप्ये व सोने चांदी के गहने लेकर चली गई. थोडी देर बाद ही वरीशा के पिता जफर ने तहरीर देकर बताया कि उसकी बेटी गुम हो गई है. पुलिस ने उनकी तहरीर के आधार पर गुमशुदगी दर्ज कर संभावित जगहों पर छानबीन की. वरीशा का शव गाजियाबाद के साहिबाबाद की कालौनी  में अटैची में मिलने पर सोशल मीडिया पर यह यह घटना वायरल हुई तो उसकी शिनाख्त वरीशा के रूप हुई. पुलिस को पीडित पिता ने बताया कि उन्होने वरीशा की शादी में हैसियत से ज्यादा दान दहेज देकर अपनी बेटी को विदा किया था. शादी के बाद से ससुराल वाले उसे दहेज के लिए परेशान करते थे. कई दिन से वरीशा का पति आमिर ससुराल में ही रह रहा था. आरोप है कि दहेज की मांग पूरी न होने पर ससुरालियों ने वरीशा की हत्या कर दी.

कर्ज लेकर किया था निकाह

मृतका के पिता जफर ने बताया कि उसने अपनी बेटी का निकाह कर्ज लेकर किया था. कोरोना के चलते बारात तो नही बुलाई थी. मगर जो भी सामान दिया. अपनी हैसियत से ज्यादा दिया. मुझे पता होता कि ये मेरी बेटी को मार देंगे तो मैं निकाह नही करता. एसपी सिटी अतुल श्रीवास्तव ने बताया कि वरीशा की दहेज हत्या के आरोप मृतका के पति आमिर व सास तथा ससुर को अरेस्ट करके जेल भेेज दिया है.

अपना उत्तर प्रदेश के लिए बुलंदशहर से नीरज शर्मा की रिपोर्ट

 

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *