26 महीने, 900 किमी और 16 घंटे का सफर, पंजाब से बांदा तक मुख्तार की पूरी कहानी

अन्य जिले अपना लखनऊ होमपेज स्लाइडर

बांदा/लखनऊ: आखिरकार करीब 26 महीने बाद मुख्तार अंसारी उत्तर प्रदेश आ ही गया. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पंजाब की रोपड़ जेल में बंद मुख्तार अंसारी को लेकर यूपी पुलिस सुबह 4 बजकर 34 मिनट पर बांदा जेल पहुंची. बांदा जेल पहुंचने पर मुख्तार अंसारी की सारी कागजी कार्यवाही पूरी की गई है. इसके बाद 4 डॉक्टरों की टीम ने मुख्तार अंसारी का मेडिकल चेकअप किया. पहले तो मुख्तार को सामान्य बैरक में रखा गया था, लेकिन बाद में उसे जेल के अंदर बैरक नंबर 15 में शिफ्ट किया गया. फिर अचनाक ही सरप्राइज देते हुए उसे बैरक नंबर-16 में शिफ्ट कर दिया गया है. पंजाब की रोपड़ जेल से निकलने के बाद करीब 900 किलोमीटर का सफर 16 घंटे में तय करते हुए मुख्तार अंसारी को कड़ी सुरक्षा के बीच बुधवार को बांदा जेल पहुंचा दिया गया. इस दौरान तीन बार उसका रूट भी चेंज किया गया. वहीं जेल आने से एक घंटे पहले पूरी रोड को बैरिकेड कर दिया गया ।

ड्रोन से निगरानी, बॉडी वॉर्न कैमरा वाले ही जाएंगे करीब
बांदा जिला जेल की निगरानी पहली बार ड्रोन कैमरे से होगी. बैरक नंबर 15 को सीसीटीवी कैमरों से कवर किया गया. इस कैमरों के जरिए जेल मुख्यालय लगातार मुख्तार की बैरक पर नजर रखेगा. साथ ही जेल में मुख्तार के करीब वहीं जेल कर्मी जा सकेंगे, जो बॉडी वॉर्न कैमरा पहने होंगे. साथ ही बांदा जेल को 30 सुरक्षाकर्मी भी दिए गए हैं।

इस रूट से लाया गया मुख्तार

सबकी निगाहें मुख्तार को लाने वाले काफिले पर थीं. मुख्तार अंसारी को लेकर यूपी पुलिस की टीम दोपहर 2.07 बजे रोपड़ से रवाना हुई थी. पंजाब से होते हुए यह काफिला शाम 4 बजे तक हरियाणा के करनाल पहुंच गया. इसके बाद नोएडा, मथुरा, आगरा और कानपुर होते हुए पुलिस का काफिला सुबह 4.34 बजे बांदा जेल पहुंचा. मुख्तार को लाने के दौरान काफिले की स्पीड करीब 100 से 80 किलोमीटर प्रति घंटा रही।

टीम में कौन-कौन थे शामिल
अपर पुलिस महानिदेशक प्रयागराज जोन प्रेम प्रकाश को मुख्तार अंसारी को पंजाब से यूपी लाने की जिम्मेदारी मिली थी.  पुलिस टीम मंगलवार की सुबह चार बजे पंजाब की रोपड़ पुलिस लाइंस पहुंची थी. टीम के 20 से अधिक वाहनों में व्रज और ऐंबुलेंस भी थी. ADG के साथ टीम में एक CO, दो इंस्पेक्टर, छह SI, 20 दीवान और 30 सिपाहियों के साथ एक कंपनी PAC भी थी ।

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *